एक शापित चुड़ैल की कहानी। Bhoot ki kahani. भूतों की कहानी।


Bhoot ki kahani. भूतों की कहानी।
Bhoot ki kahani. भूतों की कहानी। 

एक शापित चुड़ैल की कहानी। Bhoot ki kahani. भूतों की कहानी। 

एक चुड़ैल जिसे शाप लगा था। ये कहानी है हिमाचल प्रदेश की। सदियों से यह जगह आज भी शापित है। ये जगह पर जो भी आता उसके साथ शाप जुड़ जाता। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या खराब। यह चुड़ैल जिसके साथ जुड़ता उसकी जिन्दगी ही बदल जाती। उसका जीवन ही बर्बाद हो जाता। 

यह कहानी 200 साल पुरानी है। जब मगध में एक राजा राज करता था। वो राजा बहोत ही दयालु और और अपने प्रजा का प्रिय राजा था। उसने कभी किसी का खराब नही किया था। पर एक समय ऐसा आया जब उसके पुत्र ने एक गांव की लड़की के साथ बहोत ही खराब बर्ताव किया। लड़की के साथ दुष्कर्म होने के करण उसने अपनी जान दे दी। अपरिवर्तन होने के कारण लड़की की अन्तिमसँस्कार भी सही से नहीं हुआ। उसके कारण उसकी आत्मा को कभी मुक्ति नहीं मिली। 


आखिरकार वो एक शापित चुड़ैल बन गई। उसने गाँव के लोगो को अपना शिकार बनाना सुरु कर दिया। लड़की जवान थी और शादी की उमर हो गई  थी। पर मरने के कारण उसकी इच्छा अधूरी रह गई थी। इस लिए जब भी उस गांव में किसी लड़की की शादी होती तो बो चुड़ैल उस शादी में जुड़ जाती और चुडैल की आत्मा उस दुल्हन की शरीर मे घुस जाती। और उसके बाद उसकी जिंदगी नरक से भी खराब कर देती। साथ ही साथ लड़के की परिवार वालो को भी ज्यादा हैरान करती। जब तक उस परिवार में किसी की मृत्यु नहीं हो जाती तब तक वो सबको हैरान करती रहती। 

वो यह सब इस लिए करती थी क्योंकि उसे जैसी जिंदगी जिनि थी वो वैसी जिंदगी जी नहीं पाई। इसलिए गाँव के लोग भी अपनी लड़कियों की शादी करना बंद कर दिया था। 


बहोत साल के बाद एक लड़की की शादी हुई। और वो उस गांव से पार हुई और उसे उस चुड़ैल की शाप लग गई। और वो लड़की शादी के बाद पति के साथ शहर में रहने चली गई। उसे इस शाप की बिल्कुल भी जानकारी नहीं थी। 


एक दिन की बात है। जब सारे लोग रात में सो रहे थे तो अचानक घर के मंदिर में आग लग गई। दो नो चौक गए और चिल्लाने लगे। आसपास के लोग इकट्ठा हुए और आग को बुझाया। सबको लगा कि मंदिर में रखे दिए से आग लगी होगी। पर सब गलत थे। कुछ दिन बाद उसके घर मे रखे सामान में फिर से आग लग गई। ऐसा दो तीन बार हुआ। तो उन लोगो ने सोचा कि हमे पंडित की सलाह लेना चाहिए कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है। उसने एक पंडित की सलाह ली और वो पंडित उसके घर आये। उसके घर मे पैर रखते ही पंडित चौक के खड़े रह गए।


 उसको कोई आत्मा और चुड़ैल होने का महसूस हुआ। उसने घर में हवन कराने को कहा। हवन हो जाने के बाद पंडित ने कहा कि, ये सब अचानक नहीं हो रहा है, एक चुड़ैल की शाप की वजह से हो रहा है। आपकी शादी हुई तो आपको उसका शाप लग गया है और वो आपके साथ यही आगई है। ये सब वो चुड़ैल ही कर रही है। पति-पत्नी दोनों घबरा गए और कहा इन से कैसे छुटकारा मिल सकता है। पंडित ने कहा कि उसका कोई इलाज नहीं हे। क्योंकि ये एक नसीब से हरी हुई जवान लड़की और बहोत ही खतरनाक है। इस से छुटकारा पाना बहोत ही कठिन है। इस के लिए आपको उसके गांव जाना होगा जहाँ इस लड़की की मृत्यु हुई है। और उसका शरीर ढूंढ़ के उसका विधिपूर्वक अन्तिमसँस्कार करना होगा।  


दोनो गाँव गए। वो लड़की की शरीर उसी महल में थी जहाँ उसकी मृत्यु हुई थी। महल खण्डेर बन चुका था। एक दम भूतिया महल लग रहा था। बहोत प्रयास के बाद उसे लड़की का शरीर मिल ही गया। पर चुड़ैल अभी मुक्ति नहीं चाहती थी। अचानक उसे कहीं से रोने की आवाज आने लगी। वो जहा से रोने की आवाज आरही थी वहाँ गए पर वो सच नही था। बो एक भ्रम था। अचानक से उन दोनों के सामने वो चुड़ैल आ जाती है। उसका चेहरा बहोत ही डरावना होता है। आँख में से खून सिर रहा होता है। फिर भी दोनो ने भगवान का नाम लेके उसका अन्तिमसँस्कार किया। और उस चुड़ैल की आत्मा को शान्ति मिल गई


Post a Comment

Previous Post Next Post