पढ़ाई करने की कोई लिमिट होती है ? Padhai ki koi limit he. पढ़ाई में और काम मे क्या फर्क है।

Padhai ki koi limit he.


पढ़ाई करने की कोई लिमिट होती है ? Padhai ki koi limit he. पढ़ाई में और काम मे क्या फर्क है। 


किसी ने मूझसे प्रश्न पूछा था कि बोर्ड  हो या किसी भी चीज का Exam हो , हमे कितनी देर तक पढ़ाई करना चाहिए?

सबसे पहला Answer तो मेरा यह है कि पढ़ाई करने की कोई लिमिट नही होती। आप जितनी देर चाहो जब चाहो आप पढ़ सकते हो। पढ़ाई करने का कोई time नही होता। हम पढ़ाई इस लिए करते है ताकि मार्क अच्छे आये। आगे जाके आपको क्या बनना है और क्या करना है वो अलग बात है। फिल्हाल अपना पहला फोकस होता है अच्छे मार्क लाना। 

For example :- मान लो एक व्यक्ति है जो पैसे कमाने के लिए बहोत महेनत करता है। उस व्यक्ति को कितना पैसा कमाना है वो उसके हाथ मे है। आप जितना काम करोगे उतना ही फायदा आपको होगा। पैसे कमाने की कोई लिमिट नही होती। आप जब चाहो जहा चाहो काम कर के पैसे कमा सकते हो। आप जिस तरह पैसे कमाने के लिए महेनत करते हो उसी तरह मार्क लाने के लिए उतनी ही महेनत करते होंगे। दोनो की कोई लिमिट नही होती। वो हम लोग दोनो को time table में convert करते है। इतने से इतने बजे तक पढ़ाई करना है या काम करना है। फर्क इतना है कि काम हम पैसे के लिए करते है। और पढ़ाई कुछ बनने के लिए या मार्क लाने के लिए। 

मुझे आशा है कि आपको यह टॉपिक समझ मे आ गई होगी। ओर हा इस पोस्ट को अपने दोस्तों को जरूर shere करे। 

ओर हा इस वेबसाइट में एक giveaway सुरु होने वाला है तो आप लोग उसमे जरूर पार्टिसिपेट करना। ज्यादा जानकारी के लिए ऊपर थ्री लाइन पे क्लीक करे।

Motivational speech.


PK.MOTIVATION Apk 👇


Post a comment

0 Comments