जिंदगी का मतलब क्या है ? Jindagee ka matalab kya hai. Motivation ki aag.

जिंदगी का मतलब क्या है ? Jindagee ka matalab kya hai.
Jindagee


जिंदगी का मतलब क्या है ? What is the meaning of life ? Jindagee ka matalab kya hai. Motivation ki aag. Motivation kahani. Inspiration story.

 अगर आपने पहले part-1 नहीं पढा तो पहले part -1 को जरूर पढ़ें। तभी आपको यह स्टोरी पता चलेगा।
Part - 1 👉 Click here

एक लड़का था। उसे हमेशा सवाल होता की जिंदगी का अर्थ क्या है ? वो अपने ही लोगो में जिंदगी का अर्थ खोजता रहता था। दादी और नानी उसे बहोत आदर सम्मान करता था। वो दोनों भी उसे बहोत प्रेम करते थे। उस लड़के को लगा कि यह दोनों कितने अलग है पर दोनों मुझे एक जैसा ही प्रेम करते है। लड़के ने दादी और नानी की प्रकृति का अभ्यास करने लगा। दादी कंजुस हती, और नानी के पास जो है उसे खर्च कर देती। दादी के पास पैसा आती तो वो उसे छुपाकर एक थैले में रख देती। और नानी के पास पैसे आती तो वो बच्चों के पीछे खर्च कर देती। युवान को पता नहीं चल रहा था कि वो ऐसा क्यों कर रहे है। 

एक दिन लड़के ने अपने नानी से पूछा, दादी थोड़ी अलग है और आप भी थोड़ी अलग हो! ऐसा क्यों ? नानी ने अच्छी बात कहीं! नानी ने कहा कि बेटा हर कोई ने अपने जिंदगी का मतलब खोजा है। और मतलब खोजने का और मतलब मिलने का बहोत कारण होते है। तुम्हारी दादी बेकार के फालतू खर्च नहीं करती। उसके लिए एक एक पैसा भी कीमती है। इस लिए वो ऐसा करती है। वो गलत कर रही है ऐसा नहीं कहा जा सकता है। क्योंकि वो अपने जगह सही है। तुम्हारे दादी के पास मेरे से एक गुना ज्यादा पैसा है। पर में पैसा जमा करने पे नहीं मानती।  क्योंकि मेरे पास मेरा खुद का अर्थ है। 

मेने भी अपने जिंदगी में अपना अर्थ खोज लिया है। भारत आजाद हुआ इस से पहले हम करांची में रहते थे। मेरे पापा का बहोत बड़ा बिज़नेस था। हम बहोत अमीर थे। मेरे पापा ने बहोत पैसा जमा किया था। भारत का भाग पड़ा इस लिए हमे जान बचा के भगना पड़ा। सब कुछ रह गया। हमे खाली हाथ ही वहां से भगना पड़ा। जान बच गई उसकी खुशी थी। उस घटने से मेरे जीने का अर्थ खोजा। जमा करने का कोई मतलब नहीं। जिंदगी है तो सब कुछ है। मेरे पापा ने बहोत जमा किया था, सब कुछ छूट गया। उस दिन से में कुछ जमा नहीं करती। सिर्फ जीना जानती है। 

दादी अपने जगह पर सही है। में अपने जगह पर सही हु। तुझे भी तेरे जिंदगी में से ही मतलब खोजना है। ध्यान रख के जिंदगी का मतलब खोजना क्योंकि वही तुम्हारी जिंदगी होगा। 

अपने तो अपने जिंदगी का सही मतलब तो खोजा है ना। चेक कर लेना। गलत मतलब खोजा है तो उसे बदला भी जा सकता है। जब तक जिदंगी है तब तक जिंदगी का मतलब है। एक बार अपने जिंदगी से पूछ कर देखो की तुम्हारे जिंदगी का कोई अर्थ है। 

Shere जरूर करे। 

इसे भी पढ़े। 

मनुष्य की कीमत क्या है।

किसी बात से डरो मत।

जिंदगी का मतलब क्या है ?

जैसा करोगे वैसा पाओगे।

Post a Comment

0 Comments