ईमानदारी से किया हुआ काम। Motivational story in hindi. ईमानदारी। 

ईमानदारी से किया हुआ काम। Motivational story in hindi. ईमानदारी।

 ईमानदारी से किया हुआ काम। Motivational story in hindi. ईमानदारी। 


प्रतापगढ़ के एक राजा थे। वो हमेशा हसि खुशी रहते थे। उनके पास बहोत सारे धन थे। पर उनकी कोई संतान नहीं थी। एक दिन उन्होंने सोचा कि अगर में मर गया तो इस राज्य का राजा कोन बनेगा। फिर राजा ने सोचा क्यों ना इस राज्य के बच्चे को बनाया जाए। पर कौन सबसे अच्छा और ईमानदार होगा। कैसे पता चलेगा। राजा ने अपने राज्य में एलान किया कि में अपने ही राज्य के किसी एक बच्चे को उत्तराधिकारी बनाउंगा। ये सुनते ही राज्य के सारे बच्चे महेल में इकठ्ठे हो गए। ओर राजा ने सबको एक एक फूल के बीज दिए। और कहा, जाइये इस बीज को गमले में लगाइये और 6 महीने तक इस पौधे की देगभाल कीजिये। 6 महीने बाद बताऊंगा की इस राज्य का उत्तराधिकारी कौन बनेगा। 

सारे बच्चे अपने घर आये और उस बीज को अपने अपने गमले में बीज को बो दिया। 1 महीना हो चुका था। सभी के गमले में पौधे आ चुके थे। पर उसमे से एक बच्चे का गमले में कुछ नही आया। गमले में एक भी पौधा नहीं था। वो थोड़ा निराश होने लगा। उसने सोचा कि राजा बनना मेरी क़िस्मत में है ही नहीं।

5 महीने पूरे हो गए। सभी बच्चों के गमले में सुंदर सुंदर फूल आने लगे। पर उस बच्चे के गमले में कुछ फर्क नहीं पड़ा। गलमा वैसे का वैसा ही था। सभी बच्चे बहोत खुश थे सिवाय इस बच्चे के। 

आखिरकार वो दिन आ गया उस पौधे के महेल में ले जाने का। पर वो बच्चा जिसके गमले में पौधा नहीं आया था। उसने अपने मम्मी से कहा, मम्मी मेरे गमले में तो कोई फूल नहीं आया। तो भला में महेल में जाके क्या करूँगा। उसकी माँ ने कहा अब जो है यही है इसे ही लेके जाना होगा। लड़के ने कहा ठीक है। सारे बच्चे महल में पहोंच गए। सभी बच्चे उस बच्चे पर हसने लगे जिसका गमला खाली था। महेल फूलों की खुश्बू से महकने लगा। राजा ने एक एक कर के सबके पौधे देखे। फिर राजा ने उस बच्चे के गमले में देखा जिसका खाली था। राजा ने कहा बेटा तुम्हारा पौधा कहा है ? बच्चे ने कहा मेने इसकी बहोत देगभाल की पर कुछ नहीं हुआ। राजा हँसकर आगे चला गया। 

राजा ने कहा तुम्हे तो बीज दिया गया था वो बीज बंजर थे। जिसमें से कभी पौधे आ ही नहीं सकते। तुम सब ने बीज बदल दिए थे सिवाय इस एक बच्चे के। इस लिए इस राज्य का उत्तराधिकारी यह लड़का बनेगा। मुझे ऐसे ही इमानदार लोग ही चाहिए जो अपना काम ईमानदारी से ओर सच बोलकर करे। 


ईमानदारी से किया हुआ काम। Motivational story in hindi. ईमानदारी। 


यह Motivational story in hindi आपकी कैसी लगी हमे comment कर के जरूर बताना ओर अपने दोस्तो के साथ जरूर shere करना। 


Post a comment

0 Comments