एलिगेटर स्नेपिंग टर्टल - Alligator snapping turtle in hindi.

एलिगेटर स्नेपिंग टर्टल - Alligator snapping turtle
एलिगेटर स्नेपिंग टर्टल - Alligator snapping turtle


एलिगेटर स्नेपिंग टर्टल - Alligator snapping turtle in hindi. Snapping turtle. 

 कछुए की प्रजाति एक शांत जीव से जाना जाता है। डरपोक कछूये जैसे ही अपने ऊपर संकट का अनुभव करते है, तो वो अपने सिर को कवच के अंदर छुपा लेते है। पानी मे रहने वाला कछुए अगर रास्ते पर आ जाये तब आने-जाने वाले लोग उसे हैरान करते है। फिर भी यह कछूये कोई प्रतिक्रिया नहीं करते, वो सिर्फ अपने सिर को ही छुपाते है। पानी मे रहने वाला और जमीन पर रहने वाला दोनों प्रजाति वनस्पति को ही खाते है। 


सबसे लंबे आयुष्य वाले ज्यादातर कछुए की प्रजाति अपने शरीर के ऊपर कड़क कवच होता है। उसके अंदर का शरीर  नरम होता है। कछुए निर्दोष दिखते है, पर अमेरिका के दक्षिण-पूर्व विस्तार के नदियों में एलिगेटर स्नेपिंग टर्टल ( Alligator snapping turtle ) एक विचित्र प्रजाती भी पाई जाती है। यह कछुए बदसूरत होने के साथ साथ नुकेले दात भी होते है। उसका जबड़ा एलिगेटर जैसा मजबूत होने के कारण ही उसका नाम एलिगेटर टर्टल पड़ा है। 


एलिगेटर स्नेपिंग टर्टल ( Alligator snapping turtle ) के लंबे और मोटे गर्दन होते है। उसका गला बहोत मजबूत होता है। एलिगेटर स्नेपिंग टर्टल का देखाव कुछ हद तक डाइनोसॉर जैसा लगता है। यह कछुए मासाहारी होते है। उसके आंख के आसपास पिले रंग का चक्र होता है। यह कछूए की शिकार करने की ट्रिक गजब की है। उसकी जीभ लाल और लम्बी होती है। वो खुल्ला मुख रख के पड़ा रहता है। उसका जीभ साप की तरह हिलती डोलती रहती है। कोई मछली उसके जीभ को जीव समझ कर उसे खाने के लिए आती हैं, तो उसका शिकार बन जाती है। वो अपनी जीभ से मछली को ललचाकर उसका शिकार करती है। 


इस कछुए का वजन 80 से 100 किलो तक देखा गया है। पानी मे तैरते वक्त भी वो स्पीड में शिकर करती है। ये कछूए अमेरिका के बहोत ज़ू में देखे जाते है। इस कछुए को नजिक से और छूकर देखना पागलपन होगा। 


Information अच्छी लगी हो तो शेर जरूर करे। क्योंकि आपका एक शेर हमारे लिए बहोत महत्वपूर्ण है। तो शेर जरूर करे। 

इसे भी पढ़े।

 👇

Post a Comment

0 Comments