Indian crested porcupine. सेही। sehi information in hindi.

porcupine. सेही। sehi information in hindi.
porcupine. सेही। 


Indian crested porcupine. सेही। sehi information in hindi. 


 Crested porcupine को हिंदी में सेही, साही जैसे नाम से जाना जाता है। सेही एशिया खंडों में ज्यादातर पाए जाते है। इसके अलावा अफ़ग़ानिस्तान, चीन, भारत और अमेरिका जैसे देशो में पाए जाते है। दुनियाभर में उसकी 24 प्रजाति है। सेही बच्चे को जन्म देती है और उसको दूध भी पिलाते है। सेही का खून गर्म होता है। ज्यादातर मादा सेही एक बार मे एक बच्चे को ही जन्म देती है। पर कितनी प्रजाति ऐसी भी है जो एक से अधिक बच्चे को जन्म देती है। बच्चे के जन्म के दौरान उसके शरीर के कांटे नरम होते है। जब वो बड़े हो जाते है तो उसके कांटे कड़क हो जाते है। 


सेही खरगोश, चूहें और गिलहरी के जाती के जीव माने जाते है। सेही इन्हीं के जैसे खाना खाते है। उसके आगेका दांत बढ़ते रहते है। इस लिए वो लकड़ी को काट के दांत घिसती रहती है। वो ज्यादातर छुपके रहते है, क्योंकि सेही बहोत ही डरपोक होती है। वो सिर्फ रात के समय ही अपने बिल से भोजन की खोज के लिए निकलती है। सेही की लंबाई पुंछ के साथ 40 इंच से ज्यादा होती है। कोई तो इस से भी छोटी होती है। दुनिया का सबसे छोटा सेही " हैरी ड्वार्फ सेही"  है, जिसकी लंबाई 15 इंच है। सही का वजन 25 से 35 किलो तक का होता है। पर कुछ सेही की प्रजाति की वजह 2 से 4 किलो होता है। 


सेही के शरीर पे कांटे होते है। जिस से वो अपनी रक्षा करते है। यह कांटे सुई जैसे होते है। जिसे क्विल्स कहते है। उसके शरीर पे 30 हजार से भी ज्यादा कांटे होते है। उसके शरीर से पुराने कांटे निकल के नए कांटे आते रहते है। अगर कोई उसपे हमला करता है तो वो अपने शरीर को उस कांटे में समेट लेता है। 


सेही के ज्यादातर उसकी पूंछ पे ही कांटे होते है। सेही कभी भी सामने से हमला नहीं करती। जब उसे भय का आशंका होती है तो वो अपने बचाव के लिए वो अपना कांटा शिकारी के शरीर मे घुसा देते है। कांटा घुसाने से शिकरी का मृत्यु भी हो सकता है। उसके मुख्य भोजन पेड़ के पत्ते, फूल, पेड़ के छाल , फल और छोटे पेड़ है। वो अपना खाना ज्यादातर पेड़ से ही खाते है। सेही का आयुष्यकाल 5 से 57 साल तक का होता है। 


Indian crested porcupine. सेही।


इसे भी पढ़े।
 👇

Post a Comment

0 Comments