About Tree Frog. रंग बदलने वाला मेंढ़क।

About Tree Frog. रंग बदलने वाला मेंढ़क।

About Tree Frog. रंग बदलने वाला मेंढ़क। 

हम सब ज्यादातर यही सुनते ही कि गिरगिट अपना रंग बदलती है। हम सब ने गिरगिट को देखा होगा। बगीचे में या पेड़ पे। वो ज्यादातर रेत की तरह होती है, पर उसके शरीर के कुछ भाग लाल रंग के होते है। गिरगिट ज्यादातर अपने बचाव के लिए रंग बदलते है। मेंढ़क भी ठीक इसी तरह अपना रंग बदलती है। हम जो बारिश में मेंढक देखते है वो वाली नहीं। खास मेंढक की प्रजाति है जो अपना रंग बदल सकती है, सिर्फ एक रंग नही पर 3 - 3 रंग बदल सकती है।

आजके डिज़िटल युग मे आपने पेड़ के पत्ते पर हरे रंग का मेंढ़क कंप्यूटर के स्क्रीन पर या वॉलपेपर में देखा होगा। बस हम उसकी ही बात कर रहे है। यह मेंढक जमीन पे या पानी मे रहने वाला मेंढक नहीं है। उसका नाम ट्री फ्रॉग है। उसका नाम है ट्री फ्रॉग है। 

ट्री फ्रॉग मेंढकों की ही एक प्रजाति है, पर यह मेंढक हमेशां  पेड़ पर रहने के कारण इसको ट्री फ्रॉग के नाम से जाना जाता हैं। ट्री फ्रॉग अन्य मेंढकों के जैसे ही बारिश के मौसम में ही जन्म लेते है। और बारिश के मौसम में ही ज्यादातर देखने को मिलते है। ट्री फ्रॉग बड़े पेड़ के अलावा छोटे छोटे पेड़ पर भी देखने को मिलते है। वो बहोत हलके होते है। इस लिए वो पत्ते पर भी आराम से रह सकता है।

उसकी लंबाई 10 सेंटीमीटर होती है। यह मेंढ़क जन्म के दौरान पत्ते के जैसे नीले रंग का होता है। पर समय आने पर वो अपना रंग ग्रे कर सकता है। उस्की आंखे लाल और काले रंग के होते है। मादा मेंढ़क की आंखे लाल और नर के काले होते है। मादा मेंढ़क की आंखे लाल होने के साथ ही उसके पैर ओर पेट के भाग में ब्लू रंग होता है। वो अपने अंडे पत्ते पर ही देते है। और ढेर सारे सूक्ष्म अंडे होते है।



Post a Comment

0 Comments