Hindi kahani. Motivational story in hindi. शेर के ऊपर सवा शेर।

Hindi kahan

 Hindi kahani. Motivational story in hindi. Best story in hindi. Kahaniya. शेर के ऊपर सवा शेर।


रामनगर नामका गाँव था। गाँव मे एक सुंदर बगीचा था। बगीचे के नजिक हि एक स्कूल भी था। स्कूल के शिक्षक बहोत ही दयालु थे। इस लिए गाँव के बच्चे मन से पढ़ते। स्कूल के बच्चे भी होशियार थे। बहोत अच्छे नम्बर लाते थे। स्कूल का नाम आसपास के गांव में प्रसिद्ध था। 


उस गाँव के चार दोस्त जयंत , अशोक , विशाल , मयूर बहोत अच्छे दोस्त थे। परंतु पढ़ाई में चोर थे। चारों होशियार थे पर स्कूल से भाग जाते थे। एक दिन ऐसा हुआ कि चारो दोस्त एक बगीचे में जमा हुए। जयंत ने कहा दोस्त आज रात हम यहीं इस बगीचे में रुक जाते है। यहीं सोएंगे! बाते करेंगे ! बहोत मजा आएगा। मयूर ने कहा चलो ऐसा ही करते है। बहोत मजा आएगा! अशोक ने कहा वात सही है पर कल हमारा हिंदी का परीक्षा है। रात यही रुकेंगे तो कल परीक्षा में क्या लिखेंगे। हमने पूरा हप्ता मजा ही किया है। 


विशाल ने कहा, मेरे पास आइडिया है। हम मौज भी कर सकते है और परीक्षा भी अच्छे से दे सकते है। जयंत ने कहा जल्दी से बोल! विशाल ने कहा कल हम स्कूल के प्रिंसिपल के पास जायेगे! फिर कहा कान नजिक लाओ। कान में कहूंगा। तीनो दोस्त नजिक कान रखे। विशाल ने पूरी वात समझाई। तीनो दोस्त ने कहा बहोत बढ़िया आइडिया है। चारो रात भर बग़ीचेमे रहा। 


सुबह चारो जब परीक्षा देने गए। परीक्षा के एक घण्टे बाद चारों प्रिंसिपल के पास गए। सर! हम मेरे मामा के लड़के की शादी में गए थे। वहां से हम रात में निकले थे। पर आधे रस्ते बाद कार का टायर पंक्चर जो गया। रास्ता बहोत ही सुन्न था। कोई आदमी नहीं ओर कोई गाड़ी नही। हमने बहोत इन्तेजार किया। फिर कार को धक्का मार के आये है। पूरी रात कार को धक्का मार के यहां तक पहुंचे है। बहोत थक गए है।


विशाल ने कहा सर! प्लीज़ आप हमारी परीक्षा कल लो तो अच्छा है। प्रिंसीपल थोड़ी देर सोचा फिर कहा। कल परीक्षा नहीं ले सकते। तुम्हे पता तो है कि पांच दिन लगातार परीक्षा है। तुम लोग पांच दिन बाद आजका परीक्षा दे देना। Ok, sir Thank you.  ऐसा कह कर थका हुआ हो ऐसा बाहाना कर के ऑफ़िस से  बाहर निकले। बाहर आकर मयूर ने कहा वाह! विशाल तुमने जो कहा था वैसा ही हुआ। 


पांच दिन के बाद चारो को परीक्षा देने के लिए बुलाया। और चारोंको अलग अलग रूम में बिठाया। और प्रिंसीपल ने चारों को पेपर में 2 ही सवाल पूछे। और sir ने कहा दोनो का 50 - 50 मार्क है। जवाब सही दिया तो पास हो जायोगे। अशोक ने पेपर खोला। उसमे दो सवाल थे। 

1) तुम्हारा नाम ? 

2) कार के कोनसे टायर में पंक्चर हुआ था ?

(A) आगेका राइट (B) आगेका लेफ्ट (C) पिछेका राइट (D) पिछेका लेफ्ट


अशोक समझ गया कि sir ने चारों को अच्छे से फसाया है। अगर सच मे पंक्चर हुआ होता तो चारों का उत्तर सही होता। पर चारों का उत्तर अलग अलग था। और झुठ पकड़ा गया। और चारों को ऑफिस में बुलाया। और sir ने कहा, चारों को फेल तो किया जाता है साथ मे स्कूल से भी निकाला जाता है।

Telegram Join 👇


इसे भी जरूर पढ़ें।

Post a Comment

0 Comments