School में जो पढ़ाते है वो जीवन मे काम नहीं आते और जीवन मे काम आते है वो school में नहीं पढ़ाते।


भारत का Education system के ऊपर मेने 2 से 3 पोस्ट upload कर रखा है। अगर आपने उसे नहीं पढा तो उसका लिंक में आपको नीचे दे दूंगा।

 आज हम बात करते है आज के समय मे क्या हो रहा है। आज किताबों से पढ़ाई ज्यादा और प्रेक्टिकल पढ़ाई कम कराया जाता है। और जो school और college प्रेक्टिकल पढ़ाते है उसका fee तो पूछो ही मत। प्रॉब्लम तो रहती हि है। मेने एक बात की नोटिस की है वो यह है कि जो school में जो पढ़ाते है वो जिंदगी में काम नही आते और जिंदगी में काम आते है वो school में नहीं पढ़ते। ओर आज यही हो रहा है। बच्चे पूरी साल school बेग का  बोझा लेकर घूमते है, ओर जब पढ़ाई खत्म होती है तो उसे कोई जॉब नहीं मिलती। कहते है experience नहीं है। और आज के school में जितनी किताबें पढ़ाते नहीं उस से ज्यादा तो बच्चों से बोझा ढुलवाते है। 

एक घटना मेरे दोस्त के साथ बनी थी। उसने collage की पढ़ाई खत्म कर के एक कंपनी में जॉब के लिए गया। वहां सारे डॉक्यूमेंट चेक किये और पूछा। इस काम मे तुम्हे कितने महीने का experience है। उसने कहा experience नहीं है। और उसे बाहर निलाल दिया , उसे जॉब नहीं मिली। ऐसी बहोत घटना होती रहती है। 

Post a comment

0 Comments