बुरे वक्त का भी बुरा वक्त आता है। Bure vakt ka bhi bura vakt aata he. Powerful motivation.

Bure vakt ka bhi bura vakt aata he. Powerful motivation.

बुरे वक्त का भी बुरा वक्त आता है। Bure vakt ka bhi bura vakt aata he.

एक बार की बात है। एक गुरु अपने सभी शिष्यों के साथ नदी किनारे नहाने के लिए गए। सुबह सुबह का वक्त था। गुरुजी नदी के किनारे पर जा करके बैठ गए। अब गुरुजी को बैठा देख सभी शिष्यों को लगा कि उन्हें भी अपने गुरु के अनुसार कुछ देर के लिए बैठ जाना चाहिए। गुरुजी निरन्तर नदी को ही देखते रहे। और सभी शिष्य यह देखकर हैरान और परेशान होने लगे। सुबह से शाम हो गई पर गुरुजी नदी में उतरे ही नहीं। बस नदी को ही देखे जा रहे थे। सभी शिष्य इस दृश्य को देखकर बड़े व्याकुल हो गए। पर गुरुजी के सामने कौन बोले। यह सोचकर सब चुप बैठे रहे। पर उसमें से एक शिष्य ने गुरुजी से पूछ लिया। और बड़े प्यार से बोला गुरुजी हम नदी में कब उतरेंगे। आप किसका इंतजार कर रहे हैं।  तब गुरुजी ने उसकी ओर देखा और कहा जब इस नदी का बहाव बंद हो जाएगा। तब हम इस नदी में उतरेंगे। सभी शिष्य उनका यह जवाब सुनकर हैरान रह गए।  वो एक दूसरे को देखने लगे।  बात उनके समझ में नहीं आ रही थी।  फिर एक और शिष्य ने गुरुजी से अपनी शंका व्यक्त करते हुए कहा। पर गुरुजी ऐसा तो कभी हो ही नहीं सकता। ये नदी है। इसका बहाव बंद कैसे हो सकता है। 


ये नामुमकिन है। फिर गुरुजी थोड़ा सा मुस्कुराए और बोले। यही है आज की शिक्षा। यह जिंदगी बिल्कुल इस बहती हुई नदी के जैसी है। जो कभी किसी के लिए नहीं रुकती। निरंतर बहती रहती है और आगे बढ़ती रहती है। अब मर्जी तुम्हारी है कि तुम नदी के साथ आगे बढ़ते हो या फिर एक ही जगह पर डर कर हार कर घबरा कर बैठे रहते हो। इस नदी की बहती हुई लहरें बदलते हुए वक्त की तरह है। और वक्त चाहे जैसा भी हो अच्छा या बुरा बदलता जरूर है। अगर कभी तुम्हारा वक्त बुरा हो तो हौसला रखना और चाहे कुछ भी हो जाए किसी भी परिस्थिति में हिम्मत मत हारना। जिंदगी की इस नदी  मैं आगे बढ़ते रहना।  क्योंकि वक्त बदलने में देर नहीं लगती। बुरा वक्त सिर्फ तुम्हारी जिंदगी में नहीं बल्कि सभी की जिंदगी में आता है। फर्क सिर्फ इतना है की कोई बिखर जाता है तो कोई निखर जाता है। जिसकी सोच सकारात्मक है और जिस में सीखने का जज्बा है वह बुरे से बुरे वक्त में भी अच्छाई को देखता है। ठीक वैसे ही जैसे कोई रात के अंधेरे में चमकते हुए तारों को देखता है। सुख और दुख इस जिंदगी रूपी नदी की लहरें हैं जो हर पल बनती रहती है। और मिटती रहती है। लेकिन तुम एक लहर नहीं हो तुम इस नदी के जल की तरह हो जो हर हाल में बहता ही रहता है। और बिना थके बिना रुके आगे बढ़ता रहता है। तो अगर कभी तुम्हारे जिंदगी में बुरा वक्त आए तो घबराना मत बस एक बात याद रखना कि यह हमेशा रहने वाला नहीं है। क्योंकि बुरे वक्त का भी बुरा वक्त आता है।


Motivational speech by Sandeep Maheshwari.


PK.MOTIVATION Apk 👇


इसे भी पढ़े।

Post a comment

0 Comments