मजाक मस्ती भी एक ऐसा भयाक मोड़ ले लेता है कि आप ने ना कभी सोचा होगा। Part 1


मजाक मस्ती भी एक ऐसा भयाक मोड़ ले लेता है कि आप ने ना कभी सोचा होगा।


मजाक मस्ती भी एक ऐसा भयाक मोड़ ले लेता है कि आप ने ना कभी सोचा होगा। मजाक मस्ती में होने वाली घटना मेने बहोत सारी सुनी भी है और देखी भी है। आप अंदाजा भी नही लगा सकते कि एसा भी हो सकता है।

1) मकरसंक्रांति जो गुजरात का सबसे प्रख्यात पतंगों का दिन है। इस दिन गुजरात मे सबसे ज्यादा पतंग उड़ाए जाते है। में गुजरात मे रहता हूं तो मुझे पता है। ओर इन दिन पतंग पकडने वाले भी बहोत लोग होते है। खास करके बच्चे। जो एक पतंग पकड़ने के लिए ना जाने कितने दौड़ते है, ओर कितने चोटे भी लगते है। पर उसे तो पतंग ही दिखता है। अगर हम चाहे  तो  ऐसा होने से रोक सकते है। वो कैसे? तो जहा बच्चे लोग पतंग पकड़ते है वहा लोग तो होंगे। अगर वो लोग इन सब को धमकाए ओर डराए तो ये कम हो सकता है। जब वो पतंग के पीछे भागे तो उसे डराओ या समझाओ। ओर इन सब के मा-बाप भी इसे डराए या समझाए तो भी कम हो सकता है। ये स्टोरी मजाक मस्ती में शामिल नही होता , ये जो खाली जानकारी के लिए था ।

2) ये थोड़ा आप को अजीव लगेगा। बाप अपने बेटे के साथ सोते हुए खेल रहे थे। बेटे की उम्र 3 साल थी। दोनो आराम से खेल रहे थे। और अचानक बेटे का हाथ की उंगलियों के नाखून पिता के आँख में लग गया और खून गिरने लगा। वो तुरन्त हॉस्पिटल गए। आप को जनकर हैरानी होगी कि उस चोट की बजह से पिता ने अपनी एक आंख गवा दी। मजाक मस्ती करो पर ऐसा नही की नुकसान हो।

3) आप ने ये न्यूज़ तो सुना ही होगा कि एक महिला की मौत ज्यादा केक ठूंस ठूंस के खाने से हुई। इस मे दरसल क्या हुआ था दो लोगो के बीच केक खाने की कॉम्पिटिशन हुई थी और एक महिला ने केक को ज्यादा ठूंस के खाने से सास लेने में तकलीफ होने लगी और वो चेयर से नीचे गिर गई और उसे तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया । पर हॉस्पिटल पहोचने से पहले ही उसकी मौत हो गई।

Join our Giveaway contest.
Participate now.

Post a Comment

0 Comments